MCQ Questions for Class 10 Hindi Sparsh Chapter 7 तोप

Share this:

MCQ Questions for Class 10 Hindi Sparsh Chapter 7 तोप can be used to measure a student’s progress over time and identify areas where further study is required. hey provide an opportunity to revise the concepts learned in class. These questions can provide a quick way to check understanding and identify any areas that may need more revision.

With Chapter 7 Class 10 Hindi Sparsh MCQs Questions with answers, you can quickly identify which topics you need to focus on in order to improve your understanding. These questions will fulfil the needs of every student and speed up their learning process.

Chapter 7 तोप Class 10 Hindi Sparsh MCQ Questions

1. ‘1857 की तोप’ से कवि का संकेत किस घटना की ओर है?
(a) सन् 1857 का प्रथम स्वतंत्रता संग्राम
(b) अंग्रेज़ी साम्राज्य का विस्तार
(c) अंग्रेज़ी साम्राज्य के अत्याचार
(d) तोप के निर्माण होने का वर्ष
► (a) सन् 1857 का प्रथम स्वतंत्रता संग्राम

2. कंपनी बाग के मुख्य द्वार पर क्या रखी गई है?
(a) एक साइकिल
(b) एक तोप
(c) फूलों की टोकरियाँ
(d) अग्नि मिसाइल
► (b) एक तोप

3. ‘मुहाने’ का अर्थ है
(a) द्वार
(b) प्रवेशद्वार
(c) बाहर
(d) किनारा
► (b) प्रवेशद्वार

4. 1857 की तोप को कंपनी बाग के मुहाने पर क्यों सजाया गया है?
(a) ताकि दर्शक सन् 1857 के स्वतंत्रता संग्राम में बलिदान हुए देशभक्तों को याद करें
(b) क्योंकि यह तोप बहुत सुंदर है
(c) क्योंकि इस तोप से अंग्रेजों को मारा गया था
(d) इनमें से कोई नहीं
► (a) ताकि दर्शक सन् 1857 के स्वतंत्रता संग्राम में बलिदान हुए देशभक्तों को याद करें

5. तोप की सम्हाल कैसे की जाती है?
(a) उसे प्रतिदिन चमकाया जाता है
(b) उसे हर सप्ताह चमकाया जाता है
(c) किसी को इसे छने नहीं दिया जाता
(d) इसे वर्ष में दो बार चमकाया जाता है
► (d) इसे वर्ष में दो बार चमकाया जाता है

6. यह तोप किस काम आई थी?
(a) 1857 के स्वतंत्रता संग्राम की क्रांति को दबाने के काम आई थी
(b) भारत को आजाद कराने में काम आई थी
(c) भारतीयों ने इस तोप से अंग्रेजों को ललकारा था
(d) उपर्युक्त सभी
► (a) 1857 के स्वतंत्रता संग्राम की क्रांति को दबाने के काम आई थी

7. तोप ने किन सूरमाओं के धज्जे उड़ा दिए थे?
(a) जो देश पर हमला करने आए थे
(b) जो देश के शत्रु थे
(c) जिन्होंने अंग्रेज़ों के विरुद्ध स्वतंत्रता संघर्ष में भाग लिया था
(d) इनमें से कोई नहीं
► (c) जिन्होंने अंग्रेज़ों के विरुद्ध स्वतंत्रता संघर्ष में भाग लिया था

8. तोप स्वयं को जबर क्यों कहती है?
(a) क्योंकि इसमें बड़े-बड़े पहिए लगे हुए हैं
(b) क्योंकि यह मजबूत लोहे से बनाई गई है
(c) क्योंकि इसने 1857 के संग्राम में अनेक क्रांतिकारियों की धज्जियाँ उड़ा डाली थीं
(d) क्योंकि इसको शक्तिशाली व्यक्ति ही चला सकता है
► (c) क्योंकि इसने 1857 के संग्राम में अनेक क्रांतिकारियों की धज्जियाँ उड़ा डाली थीं

9. अब यह तोप क्या काम आती है?
(a) शत्रुओं को मारने के काम आती है
(b) खिलौने और स्मारक का काम कर रही है
(c) कंपनी बाग की शोभा बढाने के काम आती है
(d) उपर्युक्त सभी
► (b) खिलौने और स्मारक का काम कर रही है

10. ‘बहरहाल’ शब्द का तात्पर्य है
(a) फिलहाल
(b) अवश्य
(c) प्रत्येक दशा में
(d) प्रत्येक दिशा में
► (a) फिलहाल

11. आखिरकार तोप का मुँह एक दिन बंद क्यों हो जाता है?
(a) क्योंकि तोप कुछ समय बाद पुरानी हो जाती है
(b) क्योंकि तोप कुछ समय बाद खराब हो जाती है
(c) क्योंकि तोप समस्या का अंतिम समाधान नहीं है
(d) क्योंकि तोप प्रयोग करने योग्य नहीं रहती है
► (c) क्योंकि तोप समस्या का अंतिम समाधान नहीं है

12. कभी-कभी शैतानी में गौरैयें क्या करती हैं?
(a) तोप के भीतर घुस जाती हैं
(b) तोप के कल पुर्जों से छेड़छाड़ करती हैं
(c) तोप को गढ़ा कर देती हैं।
(d) तोप पर घोंसला बनाने का प्रयास करती हैं
► (b) तोप के कल पुर्जों से छेड़छाड़ करती हैं

13. गौरैयें और चिड़ियाँ क्या बताते हैं?
(a) एक दिन बड़ी से बड़ी तोप का मुँह बंद हो जाता है
(b) तोप से ही दुश्मनों को सबक सिखाया जाता है
(c) तोप दुश्मन को मारने का बहुत अच्छा हथियार है
(d) तोप के बिना युद्ध नहीं जीता जा सकता
► (a) एक दिन बड़ी से बड़ी तोप का मुँह बंद हो जाता है

14. गौरैयें तोप के संबंध में क्या बताने का प्रयास करती हैं?
(a) तोप चाहे जितनी भी बड़ी या विकराल हो, एक न एक दिन उसका महत्त्व कम हो जाता है
(b) तोप चाहे जितनी भी बड़ी या विकराल हो, एक न एक दिन उसकी शक्ति क्षीण हो जाती है
(c) तोप चाहे जितनी भी बड़ी विकराल हो, एक न एक दिन उसका मुँह बंद कर दिया जाता है
(d) तोप चाहे जितनी भी बड़ी या विकराल हो, एक न एक दिन वह प्रदर्शन की वस्तु बन जाती है
► (b) तोप चाहे जितनी भी बड़ी या विकराल हो, एक न एक दिन उसकी शक्ति क्षीण हो जाती है

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published.